अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा सीरियाई प्रवासियों सहित सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध के खिलाफ ईसाईयों की सर्वोच्च धार्मिक संस्था वैटिकन भी आ गई हैं.

ट्रम्प के फैसले की आलोचना करते हुए वैटिकन की और से इसे अमानवीय बताया गया हैं. वैटिकन के एक अधिकारी एवं धर्मगुरू फादर एेंजलो का कहना है कि ट्रंप का आदेश किसी भी स्थिति में कबूल करने लायक नहीं हैं. इसी के साथ उन्होंने वैटिकन ने मैक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने के ट्रंप के फैसले की भी कड़ी आलोचना की है.

इसी बीच ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा-मे ने कहा है कि सात मुस्लिम बहुल देशों के लोगों के अमेरिका यात्रा करने पर डोनाल्ड ट्रंप का प्रतिबंध विभाजनकारी और ग़लत है.

टेरीजा ने संसद में कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने जो नीति पेश की है उसको लेकर हमारी सरकार का रुख स्पष्ट है कि यह नीति ग़लत है. उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि यह निर्णय विभाजनकारी और ग़लत है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें