डोकलाम विवाद के चलते भारत और चीन के बीच उपजे तनाव पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का धमकी भरा बयान आया है.

जिनपिंग ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि ‘किसी को भी हमसे यह उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि हम अपनी संप्रभुता, सुरक्षा और विकास हितों को नुकसान पहुंचाने वाले कड़वे फल को निगल जाएंगे.’ उन्होंने कहा, चीन कभी ‘आक्रामकता या विस्तार’ नहीं चाहेगा नहीं ‘अपने क्षेत्र को अलग’ करने की अनुमति देगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चीनी राष्ट्रपति का डोकलाम विवाद को लेकर पहली बार बयान नहीं दिया. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के 90वें स्थापना दिवस पर चीन के राष्ट्रपति  शी चिनफिंग ने कहा कि सेना (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी) को हर पल युद्ध के लिए तैयार रहने चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘सुरक्षा एवं शांति की रक्षा और युद्ध से बचने के कई माध्यम एवं विकल्प हैं लेकिन सैन्य माध्यम अंतिम गारंटी होने चाहिए. हालांकि इस दौरान उन्होंने सिक्किम गतिरोध का प्रत्यक्ष जिक्र नहीं किया.

Loading...