Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

चीन ने मुस्लिमों के लिए पारित किया कानून, इस्लाम को समाजवाद के अनुकूल बनाना होगा

- Advertisement -
- Advertisement -

चीन ने उइगर मुसलमानों पर कई तरह की पाबंदियों के बाद बीजिंग उइगर मुसलमानों के लिए एक कानून लेकर आया है। इस कानून के मुताबिक, अगले पांच वर्ष के अंदर उइगर मुसलमानों को साइनिकाइजेशन (Sinicization) की प्रक्रिया अपनाई होंगी।

साइनिकाइजेशन एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके द्वारा गैर-चीनी समाज चीनी संस्कृति विशेषकर हान चीनी संस्कृति और सामाजिक मानदंडों के प्रभाव में आते हैं।

बीजिंग उइगर मुसलमानों के लिए एक कानून लेकर आया है। इस कानून के मुताबिक, अगले पांच वर्ष के अंदर उइगर मुसलमानों को साइनिकाइजेशन (Sinicization) की प्रक्रिया अपनाई होंगी। साइनिकाइजेशन एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके द्वारा गैर-चीनी समाज चीनी संस्कृति विशेषकर हान चीनी संस्कृति और सामाजिक मानदंडों के प्रभाव में आते हैं।

रिपोर्ट में लिखा है, ‘अधिकारी इस्लाम को समाजवाद के साथ संगत करने और धर्म को परिभाषित करने के उपायों को लागू करने के लिए मार्गदर्शन करने के लिए सहमत हो गए हैं।’ अभी तक कानून को लागू करने के लिए उपयोग की जाने वाली सटीक कार्यप्रणाली का विभाजन नहीं किया गया है।

बता दें कि चीन अल्पसंख्यकों पर दबाव बना रहा है और धार्मिक और राजनीतिक गतिविधियों की एक विस्तृत श्रृंखला पर अपना नियंत्रण मजबूत कर रहा है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार इस्लाम का अभ्यास देश के विभिन्न हिस्सों में निषिद्ध है। विश्वास समूह जो अतीत में स्वतंत्रता का आनंद ले चुके थे, का सामना अब चरित्रीकरण अभियान के साथ किया जा रहा है। अगर लोग प्रार्थना, उपवास, दाढ़ी बढ़ाना या हिजाब पहनते हैं तो गिरफ्तारी भी हो सकती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार धर्म पर लगे प्रतिबंधों में इस्लामिक अपराधियों और मस्जिदों के गुंबदों को छीनना, धार्मिक स्कूलों और अरबी कक्षाओं पर प्रतिबंध लगाना और बच्चों को मुस्लिम गतिविधियों में भाग लेने से रोकना भी शामिल था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles