चीनी रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की है कि चीन अफ्रीका के देश जिबूती में अपना पहला सैन्य अड्डा निर्माण करेगा। इस रिपोर्ट के आधार पर चीन पहली बार अफ्रीका में एक सैन्य अड्डा बनाने जा रहा है जिसमें विभिन्न सैन्य प्रणाली स्थापित किए जाएंगे।

चीनी रक्षा मंत्रालय ने इस अड्डे के निर्माण के लिए नियमित घोषणा किया है और बताया कि इस संबंध में दोनों देशों के बीच वार्ता जारी है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यह ऐसे समय में हो रहा है जब जिबूती सऊदी रियाल की मदद से यमन पर हमले में असली सहयोगी माना जाता है और यमन पर हमले के लिए इस अरबी गठबंधन के अधिकांश विमान जिबूती से ही उड़ान भरते हैं या इस देश के हवाई क्षेत्र का उपयोग करते हैं। चीन और गरीब देश जिबूती के बीच सैन्य संबंध स्थापित होने की वजह से इस देश की नीति में बदलाव आएगा जिससे सऊदी अरब से सहयोग बाधित हो सकता है। (hindkhabar)

Loading...