सयुंक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में रोहिंग्या मुसलमानों के हालात पर होने वाली चर्चा का चीन और रूस ने विरोध किया हैं.

दरअसल, सुरक्षा परिषद ने म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों की दयनीय हालत पर चर्चा के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया था. लेकिन चर्चा से पहले ही रूस और चीन ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया. दरअसल सुरक्षा परिषद गुपचुप तरीके से ये प्रस्ताव पास कराना चाहता था. जिसका रूस और चीन ने विरोध किया.

ब्रिटेन की मांग पर सुरक्षा परिषद रोहिंग्या मुसलमानों के बारे में बंद दरवाज़ों के पीछे बैठक करवाकर प्रस्ताव पारित कराना चाहता था किंतु रूस और चीन ने विरोध कर ब्रिटेन की मांग को पूरा नहीं होने दिया.

हालांकिू इससे पहले युरोपीय संघ ने भी गुरूवार को राष्टसंघ से मांग की थी कि वह एक विशेष समिति का गठन करके म्यांमार भेजे ताकि म्यंमार की सेना द्वारा मुसलमानों पर किये जाने वाले अत्याचारों की निष्पक्ष जांच कराई जा सके.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?