लंदन। पिछले हफ्ते ब्रिटिश संसद के बाहर हुए आतंकी हमलें के खिलाफ देश की मुस्लिम महिलाओं ने पीड़ितों के लिए अपनी एकजुटता प्रदर्शित की.

पीड़ितों के लिए एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए मुस्लिम महिलाओं ने वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर एकत्रित होकर चैन बनाई. इस दौरान मुस्लिम महिलाओं ने नीले रंग के कपड़े पहन रखे थे. ध्यान रहे ब्रिटिश संसद के बाहर हुए इस हमलें में चार लोग मारे गए थे.

नीले रंग के कपड़े पहनने के पीछे मुस्लिम महिलाओं ने बताया कि यह रंग आशा का प्रतीक है. इस दौरान सभी मुस्लिम महिलायें ब्रिज पर एक-दूसरे का हाथ थामे पांच मिनट तक खड़ी रहीं.

‘वूमेंस मार्च ऑन लंदन’ द्ववारा शुरू की गई मुस्लिम महिलाओं की इस मुहीम में अन्य समुदाय के लोगों ने भी हिस्सा लिया. सुर्बिटोन की फरीहा खान ने कहा कि यहां इस तरह से खड़े होकर हम उन आम लोगों के बारे में सोचते हैं जो यहां थे और मारे गए.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?