पिछले रविवार को क्यूबेक सिटी की मस्जिद में हुई गालीबारी में शहीद हुए मुस्लिमों को अंतिम विदाई दी गई. इस दौरान उनके जनाजें में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, क्यूबेक के प्रधानमंत्री फिलिप कोलार्ड, क्यूबेक शहर के मेयर रेगिस लेबसुम शामिल हुए. इसी के साथ ईसाई और यहूदी समुदायों के पादरी सहित हजारों लोगों शामिल हुए.

क्यूबेक सिटी की मस्जिद में हमलें में घायल हुए खालिद, अब्दुल करीम हसन के इंतेकाल के बाद उनके जनाजें की नमाज क्यूबेक इस्लामी सांस्कृतिक केंद्र मस्जिद में अदा की गई. दो दिन पहले इसी हमले में जान गंवाने वाले आजेदीन सुफियान, इब्राहीम बारी और एक अन्य की नमाजे जनाजा अदा की गई थी.

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने क्यूबेक सिटी कन्वेंशन सेंटर में शुक्रवार की नमाज के बाद जनाजें में हिस्सा लिया. उन्होंने कहा कि यह समय इन जान देने वालों की जान की कीमत को समझने का वक्त हैं. साथ ही उन लोगों को जवाब देने का वक्त हैं जिन्होंने ये नफरत भरा काम किया. उन्होंने कहा कि इन बेगुनाहों को नहीं भुलाया जा सकता हैं.

क्यूबेक स्टेट प्रधानमंत्री फिलिप कोलार्ड ने अपने भाषण की शुरुआत अस्सलामु अलैकुम रहमतुल्लाह अलेही व बरकातहु के साथ की. इसी के साथ उन्होंने बिस्मिलाही अर्रहमानी रहीम पड़ा. और मस्जिद हमलें में शहीद हुए सुफियान के परिवार की और मुड़ते हुए कहा कि “हम तुम्हें प्यार करते हैं.”

याद रहें कि पिछले रविवार को इशा की नमाज के दौरान मस्जिद में हुई गोलीबारी में 6 नमाजी शहीद हो गए थे. जस्टिन ट्रूडो ने इस हमलें को आतंकी घटना करार देते हुए कहा था कि ‘मुस्लिम समुदाय के प्रार्थना और शरण स्थल पर हुए इस आतंकवादी हमले की हम निंदा करते हैं.’

उन्होंने हमलावरों को चेतावनी देते हुए कहा कि ‘कनाडा के मुस्लिम नागरिक भी हमारे देश का अहम हिस्सा हैं. ऐसे बेवकूफाना हरकतों की हमारे समाज, शहर और देश में कोई जगह नहीं है. ‘इस तरह के बेवकूफाना हिंसा की वारदातों को देखना बेहद दुखद है. विविधता ही हमारी ताकत है. धार्मिक सद्भाव और सहिष्णुता का हम कनाडा के लोग काफी सम्मान करते हैं.’


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें