malya1

यूके की अदालत ने भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ दायर किए गए सीबीआई के मुकदमे को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने सीबीआई के कमजोर दस्तावेज और लचर पैरवी की वजह से मुकदमे को खारिज किया है।

कोर्ट ने कहा कि भारत की तरफ से पेश किए गए दस्तावेज में एक भी साक्ष्य नहीं है। ये सिर्फ कागज के टुकड़े हैं। भारतीय वकीलों ने आरोप लगाते हुए जो बातें कहीं हैं वह सिर्फ और सिर्फ कहानी हैं। भारत के द्वारा पेश किए गए दस्तावेज तो इस लायक भी नहीं हैं कि उन पर लिखित फैसला दिया जा सके।

बता दें कि विजय माल्य पर बैंकों से लिया गया 9 हज़ार करोड़ रुपये का कर्ज़ ना चुकाने का आरोप है। मामले की जांच शुरू होने के बाद माल्या ब्रिटेन चले गए थे। माल्या मार्च 2016 में ब्रिटेन गए थे और तभी से लंदन में रह रहे हैं। भारत सरकार ब्रिटेन से उनके प्रत्यर्पण की कोशिश में लगी हुई है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब है कि किंगफिशर एयरलाइंस को 13 बैंकों के समूह ने ऋण दिया था। भारतीय स्टेट बैंक की इसमें सर्वाधिक हिस्सेदारी है। भारतीय बैंकों ने अब तक भगोड़े विजय माल्या से 963 करोड़ रुपये की वसूली कर ली है।

ट बैंक ऑफ इंडिया के एमडी अरिजित बसु ने बताया कि शराब कारोबारी विजय माल्या की संपत्तियों की नीलामी कर यह रकम बैंकों ने वसूली है। इसके अलावा बैंक अब बकाया रकम की वसूली के लिए प्रयास में जुटे हुए हैं।

Loading...