ब्रेक्जिट: आखिरकार यूरोपीय यूनियन से टूटा ब्रिटेन का 47 साल का रिश्ता

लंदन: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने आखिरकार 31 जनवरी को ब्रेक्जिट से अलग होने का एलान कर दिया। जिसके बाद ब्रिटेन का यूरोपीय यूनियन से 47 साल का सबंध समाप्त हो गया। इसके साथ ही ब्रिटेन 28 देशों के समूह वाले यूरोपीय यूनियन से अलग होने वाला पहला देश बन गया।

ब्रिटेन के ईयू से अलग होने का एलान करते हुए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इसे ऐतिहासिक अवसर करार दिया। उन्होंने कहा, ”आज रात हम यूरोपियन यूनियन से अलग हो गए और ब्रिटेन के लिए यह एक ऐतिहासिक मौका है। हम एक साथ मिलकर ब्रेक्जिट से उत्पन्न होने वाले सभी अवसरों का भरपूर लाभ उठाएंगे, इससे पूरे ब्रिटेन की क्षमता उजागर होगी।”

बता दें कि 28 देशों के इस समूह से अलग होने के लिए वर्ष 2016 में ब्रेक्जिट पर जनमत संग्रह कराया गया था। इस सवेर्क्षण में 51.89 प्रतिशत लोगों ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में मतदान किया था। जिसके बाद ब्रिक्जिट के मुद्दे पर ब्रिटेन के दो प्रधानमंत्रियों डेविड कैमरन तथा सुश्री थेरेसा मे को इस्तीफा देना पड़ा था। आखिरकार मौजूदा समय में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन संसद में ब्रेक्जिट प्रस्ताव को पास कराने में सफल हुए।

ईयू से ब्रिटेन के अलग होने की पूरी प्रक्रिया में एक साल का वक्त लगेगा। प्रक्रिया पूरी करने के लिए 31 दिसंबर तक का वक्त निर्धारित किया गया है। इस अवधि में वह ईयू का सदस्य बना रहेगा, लेकिन उसे प्रतिनिधित्व और मतदान का अधिकार नहीं होगा। इस अवधि के दौरान दोनों पक्ष अपने भावी संबंधों की रूपरेखा को अंतिम रुप देंगे। ब्रिटेन ने कहा है कि वह ईयू के साथ एक फरवरी से कारोबारी वार्ता शुरू करने के लिए तैयार है।

विज्ञापन