यमन और सीरिया युद्ध में हाथ डालना मध्य-पूर्व सहित सऊदी अरब के लिए भी अब मुसीबत का सबब बन गया हैं. देश में आर्थिक मंदी के हालात पैदा हो गये हैं. जिसे बचने के लिए सऊदी अरब ने अब कुवैत के सामने हाथ फैलाए हैं. सऊदी अरब की और से कुवैत से अरबों डालर की सहायता की गुहार लगाई गई है.

सऊदी अरब की थलसेना के उप प्रमुख फ़हद बिन तुर्की ने इस बारें में कहा कि सऊदी अरब को दिवालियेपन से बचाने के लिए सऊदी अरब ने कुवैत से दस अरब डालर की मदद मांगी है. वहीँ सऊदी अरब के शासक सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ ने कहा है कि यदि देश में गंभीर आर्थिक संकट न होता तो मैं अरबों डालर की मांग कुवैत से न करता.

सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ की कुवैत के शासक के साथ हुई मुलाक़ात में उन्होंने कहा कि वर्तमान समय मे हम न केवल अपनी बल्कि पूरे क्षेत्र की सुरक्षा के लिए लड़ रहे हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि यमन युद्ध का ख़र्च ने सऊदी अरब का सरकारी ख़ज़ाना खाली कर दिया हैं, और यमन युद्ध का खर्च देश की अर्थव्यवस्था को आर्थिक मंदी की और ले जा रहा हैं.

Loading...