ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला अली खमैनी द्वारा ईरान पर लगाए प्रतिबंधों को हटाने की मांग की थी। जिससे अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन ने ठुकराते हुए कहा कि अमेरिका ईरान पर लगाए गए आर्थिक प्रतिबंध नहीं हटाएगा।

खमैनी ने कहा कि “अगर वे ईरान से उम्मीद करते हैं कि वह इस समझौते में वापस लौटे तो अमेरिका को हमारे खिलाफ लगाए गए आर्थिक प्रतिबंधों को हटाना होगा। हम इस बात की पुष्टि करेंगे और अगर सभी मानकों का पालन किया जाता है तो हम अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए इसमें शामिल हो जाएंगे।”

खमैनी ने कहा, “इस समझौते की स्थितियों को तय करने का अधिकार ईरान को है क्योंकि वह शुरू से ही इसकी प्रतिबद्धताओं का पालन करता रहा है और अमेरिका तथा तीन यूरोपीय देशों को इसके बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है। इसका कारण यह है कि इन्हीं देशों ने समझौतें की अपनी प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन किया था।”

सीबीएस न्यूज़ के लिए शुक्रवार को रिकॉर्ड किए गए इंटरव्यू में बाइडन से पूछा गया था कि क्या अमेरिका ईरान को वार्ता के लिए तैयार करने के लिए प्रतिबंध हटा देगा। इसके जवाब में राष्ट्रपति ने कहा, ‘ना’। जब उनसे पूछा गया कि क्या ईरान को यूरेनियम संवर्धन रोकना होगा तो इसके जवाब में उन्होंने गर्दन हिलाई।

इसी बीच द एसोसिएटेड प्रेस ने कुछ दिनों पहले सैटेलाइट तस्वीरों को जारी कर दावा किया कि ईरान फोर्डो गांव के नजदीक तेजी से भूमिगत परमाणु सुविधा केंद्र का निर्माण कर रहा है। दुनियाभर के परमाणु कार्यक्रमों पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय एजेंसी इंटरनेशन एटमिक एनर्जी एजेंसी (IAEA) ने ईरान के फोर्डो संयंत्र पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano