आखिर अमेरिका अपने कदम पीछे खींचते हुए उत्तर कोरिया से बातचीत के लिए तैयार हो ही गया हैं. हालांकि अमेरिका ने उत्तर कोरिया से अपने परमाणु हथियार और मिसाइल विकास कार्यक्रम को छोड़े जाने की बात कही हैं.

उत्तर कोरिया और अमेरिका की एक-दूसरे को बर्बाद कर देने की धमकियों के बीच चीन ने बातचीत के लिए माहौल बनाया है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके कहा है कि वह शांतिपूर्ण प्रयासों से कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से मुक्त कराना चाहता है. इसके लिए वह बातचीत शुरू कर सकता है.

बयान में कहा गया है कि उत्तर कोरिया परमाणु और मिसाइल विकास कार्यक्रम से दूर हटे. क्योंकि यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का संकल्प है.

वहीँ चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने कहा, हम अमेरिका की अभिव्यक्ति को समझ रहे हैं. वह संदेश दे रहा है कि कोरियाई प्रायद्वीप की परमाणु हथियार समस्या का वह बातचीत से शांतिपूर्ण समाधान चाहता है. संदेश सकारात्मक है और इस पर गौर किया जाना चाहिए.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें