Friday, July 30, 2021

 

 

 

विश्व प्रसिद्ध रेटिंग एजेंसी ‘फिच’ ने भारत की घटाई रेटिंग, नोटबंदी को माना मुख्य वजह

- Advertisement -
- Advertisement -

विश्व प्रसिद्ध रेटिंग एजेंसी फिच ने नोटबंदी पर अपनी रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि लंबी अवधि में नोटबंदी से फायदा होगा इसको लेकर अनिश्चितता बरकरार है। फिच के अनुसार, नोटबंदी से बैंकिंग सेक्टर को लेकर भी अनिश्चितता पैदा हुई है।

फिच के मुताबिक नोटबंदी से बैंकों का एनपीए बढ़ सकता है। यही नहीं रेटिंग एजेंसी ने इसका एसएमई पर भी निगेटिव असर पड़ने की बात कही है। फिच की रिपोर्ट के मुताबिक कैश से लेनदेन को कम करने के लिए सरकार ने कोई कड़े कदम नहीं उठाए हैं।

इसके अलावा एजेंसी ने लघु अवधि की अड़चनों के मद्देनजर फिच ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को भी घटाकर 6.9 प्रतिशत कर दिया है। पहले रेटिंग एजेसी ने वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था।

एजेंसी ने रिपोर्ट में कहा है कि नोटबंदी के फैसले के कारण उपजे नकदी संकट का असर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में आर्थिक गतिविधियों पर पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles