Turkey and Russia to focus on their battle forgotten IS OBAMA

वाशिंगटन ईरानी परमाणु समझौते के क्रियान्वयन की सराहना करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि हर उस रास्ते को बंद कर दिया गया है जिससे ईरान परमाणु हथियार बना सकता था। ओबामा ने व्हाइट हाउस से दिए अपने संबोधन में कहा कि कल का दिन ईरान को परमाणु हथियार हासिल करने से रोकने में एक मील का पत्थर साबित हुआ। हमने पश्चिम एशिया में एक और युद्ध का जोखिम लिए बिना कूटनीति के जरिए इस ऐतिहासिक नतीजे को पाया है।

परमाणु बम बनाने के ईरान के हर रास्ते बंद: ओबामा

संयुक्त राष्ट्र के निरीक्षक इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि ईरान ने ऐतिहासिक समझौते का पालन किया है। इसके बाद अमेरिका और यूरोपीय संघ ने ईरान पर लगे तेल और वित्तीय प्रतिबंध हटा लिए जिससे ईरान अपनी 100 अरब डॉलर की उन संपत्तियों का इस्तेमाल कर सकेगा जिन पर प्रतिबंधों के तहत रोक लगी हुई थी। एक अलग समझौते में ईरान ने अपने कब्जे से पांच अमेरिकी नागरिकों को छोड़ दिया और ओबामा ने भी अमेरिका में बंद सात ईरानी नागरिकों को लेकर नरमी बरतने पर सहमति जताई।

ओबामा ने कहा कि यह अच्छा दिन है जब अमेरिकी मुक्त हुए हैं और अपने परिवारों के पास लौटे हैं। यह ऐसा कुछ है जिसका हम जश्न बना सकते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि ईरान और विश्व शक्तियों के बीच हुए समझौते के तहत तेहरान परमाणु कार्यक्रम संचालित नहीं कर सकेगा। दूसरी तरफ संयुक्त राष्ट्र परमाणु निगरानी संस्था आईएईए ने कहा है कि ईरान ने पिछले साल जुलाई में हुए परमाणु समझौते का पालन किया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आईएईए ने रविवार को कहा कि उसके निरीक्षकों ने पाया कि ईरान ने इस समझौते के सभी जरूरी कदमों का सत्यापित किया है। उधर, अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि अमेरिका ईरान को 40 करोड़ डॉलर के कर्ज और 1.3 अरब डॉलर के ब्याज का पुनर्भुगतान करने को तैयार है। यह कर्ज इस्लामिक क्रांति के समय का है। यह भुगतान उन अरबों डॉलर से अलग है जो प्रतिबंध हटने के बाद ईरान को मिलने वाले हैं। प्रतिबंध के दौरान ईरान की अरबों डॉलर की संपत्ति पर रोक लग गई थी। साभार: ibnlive

Loading...