बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शैख़ हसीना ने संसद में कहा कि  देश में चरमपंथ व आतंकवाद को सहन नहीं किया जाएगा. बंगलादेशी सरकार आतंकवाद और चरपमंथ के ख़िलाफ़ कारवाई हेतु दृढ़ संकल्प हैं. प्रधान मंत्री का यह बयान देश की पुलिस व सुरक्षा बलों द्वारा सप्ताह भर में आतंकवाद के आरोप में 11000 से अधिक चरमपंथियों की गिरफ़्तारी के बाद आया हैं.

बांग्लादेश में पिछले दो साल में अल्पसंख्यक समुदाय पर हुए हमलों में कई छात्र व वेबब्लॉगर सहित लगभग 50 लोग मारे गए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालांकि इन हमलों की ज़िम्मेदारी आईएस और अलकायदा जैसे आतंकवादी संगठनों ने ली है किन्तु बांग्लादेश की सरकार ने  इन हमलों के लिए अपने राजनैतिक विरोधियों व चरमपंथी गुटों को ज़िम्मेदार ठहराया हैं.

Loading...