म्यांमार के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में पीड़ित रोहिंग्या मुसलमानों के अधिकारों को सुरक्षित करने के लिए मुकदमा लड़ रहे गाम्बिया को बांग्लादेश ने शनिवार को $ 500,000 की धनराशि दान की।

नाइजर में इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) की 47 वीं OIC विदेश मंत्री स्तरीय बैठक में बांग्लादेश ने गाम्बिया को यह धनराशि सौंपी गई। लगभग 1.2 मिलियन रोहिंग्या शरणार्थियों को बांग्लादेश ने अपनी जमीन पर आसरा दिया हुआ है।

ओआईसी में बांग्लादेश के स्थायी प्रतिनिधि मोहम्मद जावेद पटवारी ने कहा, ” हम पहले से ही अपनी कानूनी लड़ाई में गाम्बिया का समर्थन करने के लिए ओआईसी के फंड को दे चुके हैं।

गाम्बिया ने कहा है कि स्वैच्छिक दान में ओआईसी सदस्यों से कानूनी लड़ाई के लिए $ 5 मिलियन की जरूरत है। बांग्लादेश के अलावा सऊदी अरब, तुर्की और नाइजीरिया ने संयुक्त राष्ट्र की अदालत में पिछले साल दायर मामले के लिए गाम्बिया को अब तक वित्तीय सहायता प्रदान की है।

ओंटारियो इंटरनेशनल डेवलपमेंट एजेंसी (OIDA) की एक रिपोर्ट के अनुसार, 25 अगस्त, 2017 से म्यांमार के राज्य बलों द्वारा लगभग 24,000 रोहिंग्या मुसलमानों को मार दिया गया है। वहीं 34,000 से अधिक रोहिंग्या को जिंदा जला दिया गया था, जबकि 114,000 से अधिक लोगों को पीटा गया था।

इसमें 18,000 से अधिक रोहिंग्या महिलाओं और लड़कियों के साथ म्यांमार की सेना और पुलिस द्वारा बलात्कार किया गया और 115,000 से अधिक रोहिंग्या घरों को जला दिया गया, जबकि 113,000 अन्य लोगों के साथ बर्बरता की गई थी।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano