पाकिस्तान में वैलेंटाइन डे पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई हैं. ये रोक इस्लामाबाद हाई कोर्ट की और से लगाई गई हैं. इसके साथ ही कोर्ट ने इसके सभी प्रकार के प्रचार पर भी तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी हैं.

दरअसल, इस्लामाबाद हाईकोर्ट में अब्दुल वाहिद नाम एक शख्स ने इस मसले पर याचिका दायर की थी. जिसके बाद सोमवार को जस्टिस शौकत अजीज ने आदेश दिया कि वैलेंटाइन डे पर किसी सरकारी कार्यालय या सार्वजनिक स्थान पर कोई जश्न नहीं होगा. यह आदेश तुरंत प्रभावी किया जाए.

इसके साथ ही उन्होंने फेडरल मिनिस्ट्री ऑफ इन्फोर्मेशन और पाकिस्तान इलेक्ट्रोनिक मीडिया रेगुलेटरी ऑथोरिटी को निर्देश दिए गए हैं कि उसे प्रचार के हर माध्यम पर नजर रखनी होगा और उन्हें वैलेंटाइन डे को करने को लेकर मीडिया को सूचित भी करना होगा.

पाक में वैलेंटाइन डे के विरोधी इसे हया डे (शर्म दिवस) के तौर पर मनाते हैं और नो टू वैलेंटाइन डे का अभियान चलाते हैं. पिछले साल राष्ट्रपति मामनून हुसैन ने नागरिकों से वैलेंटाइन डे न मनाने की अपील की थी. उन्होंने कहा कि यह मुस्लिम परंपरा नहीं है और पश्चिमी सोच का प्रतीक है। इसका इस्लामी संस्कृति से कोई लेना-देना नहीं है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें