कोरोना महमारी का हवाला देते हुए कुवैत की सरकार ने देश में भारतीय नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। गुरुवार सुबह कुवैत सरकार ने घोषणा की कि पहली अगस्त से भारत, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, ईरान और फिलीपींस से आने वालों को छोड़कर अन्य देशों में रहने वाले कुवैती नागरिक और प्रवासी आवाजाही कर सकते है।

दरअसल, कुवैत ने पिछले तक़रीबन साढ़े तीन माह से बंद पड़ी अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाओं को एक अगस्त से फिर से शुरू करने का फैसला किया है। ऐसे में स्पष्ट है कि कुवैत में रहने वाले भारतीय विमान सेवाओं के शुरू होने के बाद भी कुवैत नहीं जा पाएंगे।

हालांकि बुधवार को नागरिक उड्डयन मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि एयर बबल जो एक द्विपक्षीय समझौता है, उसके तहत ही कुवैत से फ्लाइट ऑपरेशन की बात चल रही है। मंत्रालय ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। ट्वीट में मंत्रालय ने कहा कि इस मामले में कुवैत से चल रही बातचीत में सकारात्मक प्रगति हुई है।

माना जा रहा है कि कोरोना महामारी को देखते हुए कुवैत का निर्णय अस्थाई हो सकता है। हालातो में परिवर्तन के बाद कुवैत संभवतः सभी देशो के नागरिको को अपने यहां आने की अनुमति दे सकता है। हालांकि अभी तक कुवैत की तरफ से ऐसी कोई घोषणा नहीं हुई है, जिससे ऐसा लगे कि यह पाबंदी अस्थाई तौर पर लगाई गई है या स्थाई तौर पर।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा है कि ये टेम्पोरेरी बैन है जो सिर्फ़ भारत पर नहीं लगाया गया है और नागरिक उड्डयन मंत्रालय मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन