सऊदी अरब के किंग सलमान को रविवार को बहरीन के राजा हमद का पत्र मिला। यह पत्र ऐसे समय में लिखा गया है जब हाल ही में यूएई के बाद बहरीन ने भी इजरायल के साथ अपने रिश्तों को सामान्य बना लिया है।

यह पत्र विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान ने रियाद में बहरीन के राजदूत शेख हमद बिन अब्दुल्ला के साथ एक बैठक के दौरान प्राप्त किया। बैठक के दौरान, उन्होंने दोनों देशों के बीच संबंधों और सामान्य हित के क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विकास पर चर्चा करने के अलावा, कई क्षेत्रों में उन्हें बढ़ाने और विकसित करने के तरीकों की समीक्षा की।

बता दें कि यूएई-इजरायल डील के बाद सऊदी अरब ने भी इजरायल के लिए अपने हवाई क्षेत्र को खोल दिया है। माना जा रहा है कि सऊदी अरब भी इजरायल के साथ अपने रिश्तों का खुलेतौर पर जल्द ही ऐलान कर सकता है।

हाल ही में मक्का की ग्रैंड मस्जिद यानि अल हरम शरीफ के इमाम अब्दुलरहमान अल-सूदैस का इजरायल को लेकर दिया गया खुतबा चर्चा में रहा है। अपने खुतबे में अब्दुलरहमान अल-सूदैस ने स्पष्ट रूप से यहूदियों का उल्लेख करते हुए कहा कि मुस्लिमों को गैर-मुस्लिमों के साथ बातचीत करनी चाहिए और उनके प्रति दया का भाव प्रदर्शित करना चाहिए।

उनकी ये टिप्पणी संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल के रिश्तों के सामान्यीकरण के बाद सामने आई है। अल-सूदैस ने खुतबे में मुस्लिम नमाजियों से आह्वान करते हुए कहा, “पारस्परिक आदान-प्रदान और अंतरराष्ट्रीय संबंधों में स्वस्थ व्यवहार के साथ किसी भी तरह की भ्रांतियों से बचा जाए”। उन्होने कहा, जब स्वस्थ बातचीत की उपेक्षा की जाती है, तो सभ्यताओं में टकराव होगा और जो भाषा सामने आएगी वह हिंसा, बहिष्कार और घृणा में से एक होगी।”

विज्ञापन