यूरोपीय देश ऑस्ट्रिया की सरकार ने स्कूलों, अदालतों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर हिजाब और बुर्के पर पाबंदी लगाने का फैसला किया हैं.

ऑस्ट्रिया की सत्तारूढ़ गठबंधन सरकार दक्षिणपंथी विचारधारा वाली फ्रीडम पार्टी की लोकप्रियता का मुकाबला करने के लिए देश में कुछ सुधारों को लागू कर रही है. इसी के तहत नकाब और बुर्के पर प्रतिबंध लगाए जाने की योजना है. पिछले महीने हुए राष्ट्रपति चुनाव में फ्रीडम पार्टी के उम्मीदवार को मामूली अंतर से हार झेलनी पड़ी थी.

इस बारें में कहा गया कि “हम खुले समाज के लिए प्रतिबद्ध हैं. सार्वजनिक स्थानों पर पूरे चेहरे को ढकने वाला नक़ाब इसका रास्ता रोकता है. इसलिए इस पर पाबंदी लगाई जाएगी.” गठबंधन सरकार ने पुलिस अधिकारियों, जजों, मैजिस्ट्रेट्स और सरकारी वकीलों को भी सिर ढकने वाले स्कार्व ना पहनने का आदेश दिया है.

अनुमान है कि ऑस्ट्रिया में 150 महिलाएं पूरे चेहरे को ढकने वाला नक़ाब पहनती हैं. पर्यटन से जुड़े अधिकारियों ने आशंका जताई है कि इस उपाय से पर्यटक छिटक सकते हैं. सरकार का कहना है कि सरकारी नौकरी करने वालों को ‘सैद्धांतिक और धार्मिक तौर पर निष्पक्ष’ दिखना चाहिए। ऐसे में किसी भी तरह का धार्मिक पहनावा उनकी निष्पक्षता के बारे में गलत संदेश दे सकता है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले कई यूरोपीय देश बर्क़े पर प्रतिबंध लगाए चुके हैं हालांकि ऑस्ट्रिया के कुलपति का कहना है कि यह एक ‘प्रतीकात्मक’ क़दम है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें