राष्ट्रपति बनने के साथ ही डॉनल्ड ट्रंप ने परंपरा के मुताबिक दुनिया भर के राष्ट्राध्यक्षों से फोन पर बात की. इसी कड़ी में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मालकम टर्नबुल के साथ भी फोन पर बातचीत की. लेकिन ट्रम्प बीच बातचीत में ही ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री पर भडक उठे और फोन रख दिया.

दरअसल, टर्नबुल ने ट्रम्प को ओबामा प्रशासन और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए एक समझोते को याद दिलाया, जिसमे दोनों देशों के मध्य शरणार्थियों को लेकर एक समझोता हुआ था. समझोते के अनुसार अमेरिका ऑस्ट्रेलिया में एक डिंटेशन सेंटर रह रहे 1,250 शरणार्थियों को अपने यहां आने देगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

टर्नबुल ने जब ट्रंप को अमेरिका के साथ इस समझोते की याद दिलाई तो उन्होंने कहा कि ‘यह अबतक की सबसे खराब डील है’. ट्रंप ने टर्नबुल पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह ‘बोस्टन पर अगला बम हमला करने वालों’ को अमेरिका में निर्यात करने की कोशिश कर रहे हैं.

बुधवार रात ट्रंप ने इसी मुद्दे पर एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आप यकीन कर पाएंगे इसपर? ओबामा प्रशासन ऑस्ट्रेलिया से हजारों अवैध प्रवासियों को अमेरिका में लाने के लिए राजी हो गया था। क्यों? मैं इस बेवकूफाना समझौते के बारे में विस्तार से पढूंगा.’

ट्रंप और टर्नबुल के बीच की इस बातचीत के लिए एक घंटे का समय तय था, लेकिन 25 मिनट बाद ही ट्रंप ने बीच में ही फोन काट दिया. ट्रंप ने PM टर्नबुल से कहा कि उन्होंने उनके अलावा 4 राष्ट्राध्यक्षों को भी फोन किया. रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ भी बातचीत की मगर उन सभी फोन कॉल्स की तुलना में आपसे की गई मेरी बातचीत सबसे खराब रही है.

Loading...