aung

aung

म्यांमार के यंगून में झील के किनारे बने आंग सान सू की के निवास पर आज पेट्रोल बम से हमला किया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, घटना के समय वह सू नाएप्यीडॉ में थीं. जिसकी वजह से इस हमले से वह बाल-बाल बच गईं. उन्होंने कहा- वह एक पेट्रोल बम था. उन्होंने आगे का विवरण नहीं दिया जिससे कि इसके पीछे का मकसद पता चल सके.

ध्यान रहेसू के जिस आवास पर पेट्रोल बम से हमला हुआ है, वह सैन्य शासन के खिलाफ लोकतंत्र की लड़ाई में अहम स्थल के रूप में जाना जाता है. इसी आवास पर सू की वर्षो तक कैद करके रखा गया था. यहीं से उन्होंने अपना आंदोलन चलाया था.

इसी आंदोलन का नतीजा था कि सैन्य शासन को लोकतंत्र स्थापना के लिए बाध्य होना पड़ा और सन 2015 में म्यांमार में चुनाव हुए. चुनाव में सू की की पार्टी भारी बहुमत से चुनाव जीती. लेकिन कानूनी प्रावधानों के चलते सू की राष्ट्रपति नहीं बन सकीं. हालांकि सत्ता की बागडोर उनके ही हाथों में हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ज़ॉह्ते ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर संभावित हमलावर का चेहरा बताते हुए लिखा कि उसकी आयु करीब 40 वर्ष थी और उसके बाल काले थे.