Thursday, December 9, 2021

सहरी के लिए लोगों को जगाना हुआ जुर्म, 5 मुस्लिमों को किया गिरफ्तार

- Advertisement -

रमज़ान में सहरी के लिए रोजेदारों को उठाना भी अब फिलिस्तीनियों के लिए गुनाह हो गया है. इजरायली पुलिस ने 6 फ़िलिस्तीनियों को नस्लों से चली आ रही परंपरा को अंजाम देने पर गिरफ्तार कर लिया.

इजरायली पुलिस का कहना है कि कुछ यहूदी परिवारों ने मुशाराती की शिकायत की थी. इसी श‍िकायत के बाद ये  गिरफ्तारी की गई.  इजराइली मीडिया हेरेट्ज़ की रिपोर्ट के अनुसार इजरायली पुलिस ने इन फ‍िलिस्‍त‍िनियों पर जुर्माना भी लगाया है.

गिरफ़्तार हुए एक फ़िलिस्तीनी मोहम्मद हजीजी ने कहा, “मोहल्ले में हज़ारों लोग हैं जो नस्लों से चली आ रही इस परंपरा के जारी रहने के इच्छुक हैं जबकि शिकायत करने वाले दस हैं.”

उन्होंने बतायाः “जगाने का काम 20 मिनट चलता है. मुझसे कहा गया कि पहली बार 450 शेकेल, दूसरी ओर 1000 शेकेल और उसके बाद 1000 शैकेल जुर्माना लगेगा।” हजीजी ने बताया कि पुलिस ने धक्का देकर उनका अपमान किया।

रमज़ान में सहरी के लिए उठाने वाले इन मुस्‍ल‍िमों को मुशाराती कहते हैं. ये लोग रमज़ान के महीने में गलियों में गश्त करके लोगों को सहरी खाने के लिए जगाते हैं.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles