नागोर्नो-करबाख मुद्दे पर संघर्ष विराम समझौते पर हस्ताक्षर कर अज़रबैजान से हार स्वीकार ने के बाद आर्मेनिया के राष्ट्रपति ने रविवार को पूरी सरकार से इस्तीफा देने को कहा है। साथ ही उन्होने एक साल के भीतर नए चुनाव कराने और राष्ट्रीय समझौते की अंतरिम सरकार बनाने पर ज़ोर दिया।

उन्होंने अर्मेनियाई प्रधान मंत्री निकोलस पशिनियन द्वारा नागोर्नो-करबाख मुद्दे पर अजरबैजान के साथ संघर्ष विराम समझौते पर हस्ताक्षर करने और करबख़ से अर्मेनियाई लोगों की वापसी को “महान त्रासदी” बताया। उन्होंने कहा, “किसी भी देश में ऐसा समाधान होता है, जहां इतनी बड़ी त्रासदी हुई हो। इसके चलते इस सरकार को चले जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि दो साल पहले जब चुनाव हुए थे और एक अंतिम राष्ट्रीय एकता सरकार और शुरुआती चुनावों का प्रस्ताव दिया गया था, तब आर्मेनिया की स्थिति बहुत अलग थी। उन्होने सुझाव दिया कि एक टेक्नोक्रेटिक सरकार की स्थापना की जानी है जिस पर सभी दलों सहमत होंगे।

Armen Sarkissian ने कहा यह सरकार और छह महीने या एक साल की अवधि के लिए काम कर सकती है। इसके बाद जल्द ही चुनाव देश को नेतृत्व देगा। उन्होने कहा कि संविधान में संशोधन के लिए नए चुनाव से पहले एक संवैधानिक जनमत संग्रह का आयोजन करने की आवश्यकता है।

यह दावा करना कि राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री को आर्मेनिया में अकेले देश के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने नहीं चाहिए। इस पर उन्होने कहा, संविधान हमारे देश में सभी को संतुलित नहीं है संसद, सरकार, और प्रेसीडेंसी के बीच एक संतुलन होनी चाहिए। “

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano