दूसरे विश्व युद्ध के बाद इस समय सबसे ज्यादा हथियारों की खरीद-फरोख्त हो रही हैं. इन हथियारों की खरीद-फरोख्त में इस्लामिक देश तो तबाह और बर्बाद हो रहे हैं वहीँ दूसरी तरफ यूरोप की यूरोप की हो रही हैं. इस बात का खुलासा सीएनएन की रिपोर्ट में हुआ हैं.

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, मध्यपूर्व के देशों ने अमरीका तथा यूरोपीय देशों से हथियार ख़रीदे हैं.  2012 से 2016 के बीच मध्यपूर्व के देशों में हथियारों की ख़रीदारी 86 प्रतिशत तक बढ़ चुकी है. इसी के साथ हथियारों के अंतर्राष्ट्रीय निर्यात का 29 प्रतिशत भाग मध्यपूर्व में ही होता हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, मध्यपूर्व में हथियार ख़रीदने वाले सबसे बड़े देश क़तर और सऊदी अरब हैं तो दूसरी तरफ बेचने वालों में अमरीका तथा यूरोपीय देश हैं. इसी के साथ अफ़्रीक़ी देशों में सबसे अधिक हथियारों का आयात अलजीरिया ने किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रिपोर्ट में खुलासा हुआ हैं कि दुनिया भर में हथियारों के निर्यात का एक तिहाई भाग अमरीका ने किया हैं. मरीका से हथियारों के निर्यात में पिछले पांच साल के दौरान 21 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है.

Loading...