bh

bh

लोकतंत्र और मानवाधिकारों के लिए शांति संगठन ने कहा है कि 2011 में बहरैन में क्रांति के आरम्भ होने के बाद से अब तक बहरैन की एक तिहाई जनता ने जेल जाने का अनुभव प्राप्त कर लिया है।

एक मानवाधिकार संगठन के शोध परिणाम बताते हैं कि अरब देशों में सबसे अधिक जेल में बंद कैदियों की संख्या बहरैन में है।

मानवाधिकार और लोकतंत्र के लिए शांति संगठन ने बहरैन की मानवाधिकार संगठन के सहयोग से तैयार रिपोर्ट बताती है कि अरब देशों में जेल में बंद कैदियों की संख्या के आधार पर बहरैन का पहला नंबर है और इस समय इस देश में 4 हज़ार से अधिक कैदी जेल में बंद हैं जिनमें से 900 किशोर हैं।

पक्के सबूतों के आधार पर 2011 से अब तक 10 हज़ार बहरैनी नागरिकों को अत्याचार के साथ गिरफ्तार किया गया है जिनमें से 4 हजार से अधिक जिनमें 968 किशोर और 330 महिलाएं है कों भयानक यातनाएं दी गई हैं और उनके साथ बुरा व्यवहार किया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अब तक 400 बहरैनी नागरिकों की नागरिकता रद्द की जा चुकी है और शांतिपूर्व प्रदर्शनों में शामिल होने वाले चार हज़ार 997 बहरैनी आले खलीफा के हमलों में अब तक घायल हो चुके हैं।

Loading...