americabasil

americabasil

इस्लाम धर्म के तीसरे सबसे पवित्र शहर अल-कुद्स यानि जेरुसलम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा यहूदियों को सौंपे जाने की कोशिश के बाद अरब देश अमेरिका पर प्रतिबंध लगाने को लेकर विचार कर रहे है.

लेबनान के विदेश मंत्री गेब्रान बासिल ने अरब लीग के विदेश मंत्रियों की बैठक में कहा ‘ इस निर्णय के खिलाफ अवश्य कार्रवाई करनी चाहिए. इस फैसले के खिलाफ राजनीतिक, आर्थिक और वित्तीय प्रतिबंध अवश्य लगाया जाना चाहिए.

इसी बीच मलेशिया ने इस फैसले को मुस्लिम दुनिया के चेहरे पर एक थप्पड़ करार देते हुए सैन्य कार्रवाई की बात कही है. मलेशिया के रक्षा मंत्री हिसमुद्दीन हुसैन ने कहा कि इस मामले में देश को किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार होना चाहिए.

उन्होंने कहा, मलेशियाई सशस्त्र बल (एमएएफ) पूरी तरह से कार्रवाई के लिए तैयार है. उन्होंने कहा, रक्षा मंत्री के रूप में, मुझे विश्वास है कि हम मलेशियन सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर, यांग दि-पर्टुआन अगोंग, सुल्तान मोहम्मद वी से मिले किसी भी आदेश को पूरा करेंगे.

ध्यान रहे ट्रम्प ने जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने  के साथ ही अमेरिकी दूतावास को तेलअवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने के आदेश दिए है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें