अमेरिका की और से ईरान पर एक बार से फिर से लगाए गए प्रतिबंधों को लेकर ईरानी राष्ट्रपति हसन रुहानी ने कहा कि अमेरिका इस्लामिक देश के खिलाफ ‘‘मनौवैज्ञानिक युद्ध’’ छेड़ रहा है।

रुहानी ने कहा, ‘‘समझ नहीं आता है कि एक ओर तो अमेरिका हमारे साथ नये सिरे से परमाणु समझौता करने की बात कर रहा है, वहीं दूसरी ओर उसी वक्त प्रतिबंध भी लगा रहा है।’’

सरकारी टीवी चैनल पर प्रसारित साक्षात्कार में रूहानी ने कहा, ‘जब आप दुश्मन हैं और आप दूसरे व्यक्ति पर चाकू से वार कर रहे हैं, फिर आप कहते हैं कि बातचीत करना चाहते हैं। ऐसा करना है तो पहले चाकू हटाना पड़ेगा।’

source: Vox

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं विदेश मंत्री मोहम्मद जावद जरीफ ने कहा कि बेशक अमेरिकी धमकाने और राजनीतिक दबाव बनाकर कुछ मुश्किलें पैदा कर सकता है। लेकिन, तथ्य यह है कि वर्तमान दुनिया में अमेरिका अलग-थलग है।

बता दे कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी कर दिये है। साथ ही कहा कि वह ईरान के साथ नए परमाणु समझौते को लेकर तैयार है। इससे पहले उन्होने रूहानी से बातचीत की ख़्वाहिश भी जाहीर की थी।

ट्रंप ने कहा, ‘अमेरिका द्वारा ईरान पर परमाणु से संबंधित प्रतिबंध नए सिरे से लगाए जा रहे हैं। इन प्रतिबंधों को 14 जुलाई, 2015 के संयुक्त वृहद कार्रवाई योजना (जेसीपीओए) के तहत हटाया गया था।’

Loading...