boy

boy

इस्लाम धर्म के तीसरे सबसे पवित्र शहर अल-कुद्स यानि जेरुसलम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा यहूदियों को सौंपे जाने की कोशिश के विरोध में दुनिया भर के मुस्लिमों ने अमेरिकी और इजरायल सामान का बाॅयकाॅट करना शुरू कर दिया है.

दरअसल मिस्र के प्रसिद्ध विश्वविद्यालय अलअज़हर ने मिस्र सहित दुनिया भर के मुस्लिमों से अमेरिकी और इजरायल सामान का बहिष्कार करने की अपील की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अलअज़हर विश्वविद्यालय के वकील और प्रोफ़ेसर डाक्टर अब्बास शूमान ने अपने फ़ेसबुक पेज पर लिखा कि बैतुल मुक़द्दस के विरुद्ध अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की भड़काऊ कार्यवाही के बाद न ही मुसलमानों और न ही ईसाईयों के लिए अच्छा है कि वे अमरीकी और ज़ायोनी सामानों की ख़रीदारी करें.

उन्होंने आगे लिखा, यह फ़ैसला सभी मुस्लिम देशों को मिल कर लेना चाहिए. उन्होंने जनता से अपील की है कि इस धोखे में न आएं कि ट्रम्प के फ़ैसले पर अभी अमल नहीं होगा क्योंकि यह यह बयान केवल इसलिए है कि जनता का ग़ुस्सा ठंडा हो जाए.

ध्यान रहे ट्रम्प ने जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने और अमेरिकी दूतावास को तेलअवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने का फैसला लिया है. जिसके बाद दुनिया भर में मुस्लिमो और ईसाईयों में भारी गुस्सा है.

Loading...