उत्तरी कोरिया ने अमेरिका और दक्षिणी कोरिया की सारी कोशिशों पर पानी फेरते हुए एक बड़ी कामयाबी हासिल की है. दरअसल उत्तरी कोरिया के हेकर्स ने उन दस्तावेजो को चुरा लिया है. जिनमे अमेरिका और दक्षिणी कोरिया की और से उत्तरी कोरिया के खिलाफ बनाया गया युद्ध का रोडमैप था.

न्यूज एजेंसी यानहप न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार,  डेमोक्रैटिक पार्टी के प्रतिनिधि ई चॉल-ही ने बताया कि डिफेंस इंटिग्रेटेड डेटा सेंटर से 235 गीगाबाइट्स के मिलिटरी डॉक्युमेंट चुरा लिए गए हैं. उन्होंने कहा, अभी चुराए गए डेटा में से 80 फीसदी की पहचान नहीं हो पाई है.

सांसद रीचोल ई चॉल कहना है कि चुराए गए दस्तावेज़ों का संबंध रक्षा मंत्रालय से है इसमें वह युद्ध योजनाएं भी शामिल हैं जो दक्षिणी कोरिया और अमरीका ने मिलकर तैयार की थीं. दक्षिणी कोरिया ने इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इंकार किया है.

रीचूल के अनुसार दक्षिणी कोरिया के रक्षा डेटा सेंटर से 235 गीगाबाइट्स सैनिक दस्तावेज़ चोरी हो गए हैं और इनमें से 80 प्रतिशत की अब तक पहिचान नहीं हो पाई है. यह दस्तावेज़ गत वर्ष सितम्बर महीने में हैक कि गए थे. हालांकि प्योंगयांग ने इस ‘साइबर हमले’ की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया है.

पेंटागन प्रवक्ता रॉबर्ट मैनिंग ने इस पर टिप्पणी पर इंकार करते हुए कहा कि  हम इस पर टिप्पणी नहीं करेंगे लेकिन अपने ऑपरेशनल प्लान की सुरक्षा का भरोसा जरूर दिलाएंगे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?