amal

amal

लेबनानी पॉप स्टार अमल हिजाज़ी ने ईद मिलादुन्नबी (सल्ल.) के मौके पर बड़ा फैसला लेते हुए उन्होंने अपने गायन के पेशे को छोड़ दिया है. उन्होंने कहा कि अब वे केवल नात-ए-रसूल (सल्ल.) पढ़कर अपनी जिंदगी गुजारेंगी.

हिजाज़ी के सिंगिंग से रिटायर होने के फैसले से दुनिया भर में फैले उनके लाखों फैन निराश हो गए लेकिन जब उन्होंने बताया कि उन्होंने सरकार की शान में नात-ए-रसूल (सल्ल.) पढ़ने के लिए ये फैसला लिया तो उनकी ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा.

2001 में अपना करियर शुरू करने वाली हिजाज़ी को अरब दुनिया के सबसे प्रमुख सितारों में से गिना जाता है. हिजाजी का 2002 का एलबम ज़मान अब तक का सर्वश्रेष्ठ अरबी पॉप रिकॉर्डों में से एक है.

इस बारें में उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि अल्लाह ने मेरी दुआओं को आखिरकार कबूल किया. इस दौरान उन्होंने एक वीडियो भी जारी किया. जिसमे वे नात-ए-रसूल (सल्ल.) पढ़ रही है.

इस वीडियो को अब तक लगभग आठ लाख बार देखा गया है और 250,000 से अधिक बार साझा किया गया है. इस पर 14,000 से अधिक टिप्पणियां आई है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें