इजरायल पुलिस द्वारा बैतूल मुकद्दस के आसपास नए सुरक्षा उपायों की घोषणा को अल-अक्सा मस्जिद प्राधिकरण ने खारिज कर दिया है.

जेरूसलम के अल-अक्सा मस्जिद के प्रभारी जॉर्डन-चालित प्राधिकारी ने पवित्र स्थान के लिए एक नई पुलिस इकाई बनाने के लिए इजरायल की योजना की निंदा की है.

दरअसल, पिछले हफ्ते, सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री गिलद एर्दन ने घोषणा की थी कि इज़राइल 200 स्ट्रोंग पुलिसकर्मियों का स्पेशल पुलिस बल स्थापित करेगा, जो “उन्नत तकनीक” से लैस होगा और अल-अकसा परिसर के आस-पास होगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे जुलाई में अल-अक्सा मस्जिद कंपाउंड में हुए गोलीकांड के बाद इजरायल अल-अक्सा मस्जिद को अपने नियंत्रण में लेने की कोशिश कर रहा है. इस घटना में इजरायल के दो पुलिस अधिकारी और तीन हमलावर मारे गए थे.

इस घटना के बाद इजरायल सरकार ने शुरू में प्रवेश द्वार पर मेटल डिटेक्टरों को स्थापित किया था, लेकिन मुस्लिम दुनिया के भारी विरोध के बाद इन मेटल डिटेक्टरों को हटाना पड़ा था.

अल-अकसा दुनिया भर के मुसलमानों के लिए तीसरा सबसे पवित्र स्थल है. 1967 मध्य पूर्व युद्ध के दौरान – इजरायल ने पूर्व यरूशलेम पर कब्जा कर लिया. जिसमें अल-अकसा स्थित है.

Loading...