घर के फ्रिज में गौमांस रखने की अफवाह उड़ाकर दादरी के बिसाह्डा में मोहम्मद अखलाक की गाँव के ही लोगों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. इस जघन्य कांड में उसका पुत्र दानिश भी गंभीर रूप से घायल हुआ था.

इस मामले में कई लोगों पर मामला दर्ज हुआ था. साथ ही कई की गिरफ्तारी भी हुई थी. जिनमें से 18 लोग अब तक जमानत पर रिहा हो चुके हैं. ये सभी स्थानीय बीजेपी विधायक की मदद से रिहा हुए है. इसी के साथ बीजेपी विधायक तेजपाल नागर ने 9 अक्टूबर को NTPC के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर नौकरी भी दिलाई है.

विधायक नागर ने बताया कि उन्होंने NTPC मैनेजमेंट से युवकों को कॉन्ट्रैक्ट पर नौकरी देने का आग्रह किया था. एनटीपीसी अधिकारियों का कहना है कि, “हां, हमने बिसहड़ा गांव के युवाओं को नौकरी पर रखा है। लेकिन इसका अखलाक की हत्या से कोई लेना-देना नहीं है.

इसके अलावा एक अन्य आरोपी रवीन सिसोदिया जिसकी मल्टिपल ऑर्गन फेल होने से जेल में मौत हो गई थी. के परिवारवालों को भी जल्द ही 8 लाख रुपए की सहायता राशि भी मिलेगी. नागर ने कहा कि सिसोदिया को 8 लाख रुपए सहायता राशि दी जाएगी. इसके अलावा उन्हें अन्य सुविधाएं भी दी जाएंगी.

नागर ने कहा ‘रवीन सिसोदिया की पत्नी को एक महीने के अंदर प्राइमरी स्कूल में नौकरी मिलेगी. इसके साथ उन्हें 8 लाख रुपए सहायता राशि भी दी जाएगी. इसमें से 5 लाख एकसाथ दिए जाएंगे. बाकि राशि उन्हें लोकल लेवल पर कलेक्शन से दी जाएगी.’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?