कतर एयरवेज’ जल्द भारत में नई एयरलाइंस सेवा शुरू कर सकता है. हालांकि भारत के कई शहरों में ‘कतर एयरवेज’ पहले से ही उड़ान सेवाएं उपलब्ध करवा रहा है.

बुधवार को एयरवेज के CEO अकबर अल बकर ने बर्लिन में कहा कि वह कतर सरकार की मदद से भारत में एयरलाइन खोलकर निवेश करने पर विचार कर रहे हैं. कतर एयरवेज के प्रवक्ता ने CEO के हवाले से कहा कि चूंकि भारत सरकार ने इस क्षेत्र में 100% FDI लागू है, वह कतर इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी के साथ मिलकर एयरलाइंस पर निवेश कर सकते हैं.

बकर के मुताबिक  वह भारत में घरेलू एयरलाइंस शुरू करने को लेकर जल्द ऐप्लिकेशन भी लॉन्च करेंगे. उन्होंने कहा, कतर के सोवरेन वेल्थ फंड के साथ मिलकर नई एयरलाइन की शुरुआत की जाएगी. यह पहली एयरलाइन होगी जिसका पूरा स्वामित्व विदेशी संस्थाओं के हाथ में होगा. हालांकि अभी भारत सरकार को इसके लिए आवेदन नहीं भेजा गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बताया जाता है कि दोहा की यह एयरलाइन लंबे समय से इंडिगो के साथ हिस्सेदारी लेने की कोशिशों में लगी है, जो कि अब तक संभव नहीं हो सका है. आपको बता दें कि सरकार ने पिछले साल एविएशन सेक्टर में एफडीआइ की शर्ते उदार की थीं और 100 फीसद निवेश की अनुमति भी दी थी. इससे पहले विदेशी एयरलाइनों को भारतीय एयरलाइनों में 49 फीसद तक हिस्सेदारी लेने की अनुमति थी.

Loading...