इजरायल के दुनिया के सबसे खूखार आतंकी संगठन आईएसआईएस से रिश्तें कई बार साबित हो चुके है. इस्लाम को बदनाम करने और मुस्लिमों की जान लेने के मकसद से बनाए गए इस आतंकी संगठन से इजरायल के सबंध के बारें में एक बार और खुलासा हुआ है.

लीबिया में इजरायल की ख़ुफ़िया एजेंसी मौसाद का एजेंट पकडाया है. जो आईएसआईएस के सरगना के रूप में अपना काम अंजाम दे रहा था. ये एजेंट के मस्जिद का इमाम बना हुआ था. पूछताछ में उसने अपना नाम नाम बिनयामिन अफ़राइम बताया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अफ़राइम, अरब व इस्लामी देशों में जासूसी के लिए मूसाद के अरब के लिए बने हुए एजेंटों में शामिल था. ख़ास तौर पर इसे आईएसआईएस के लिए तैयार किया गया था.

लीबियाई अधिकारियों ने बताया, वह आईएसआईएस का सक्रीय सदस्य है. वह आईएसआईएस के जरिये ही बिन ग़ाज़ी पहुंचा और फिर बिन ग़ाज़ी की एक मस्जिद का इमाम बन गया.

आईएसआईएस ने अबू हफ़्स को 200 आतंकियों के एक गुट को सँभालने और इनके जरिए आतंकी वारदात अंजाम देने की जिम्मेदारी सोंपी थी.

Loading...