बगदाद | दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादी संगठन ISIS के खिलाफ भले ही कई देशो ने जंग छेड़ी हुई हो लेकिन यह संगठन अपनी हैवानियत से बाज नही आ रहा है. हालाँकि ISIS अब ईराक में कुछ इलाको तक ही सिमित हो गया है लेकिन जहाँ भी इनकी सत्ता मौजूद है वहां लोग नरक से भी बदतर जिन्दगी जीने के लिए मजबूर है.

ह्यूमन राइट्स वाच (HRW) के अनुसार आतंकवादी केवल यजीदी महिलाओं को ही नही बल्कि अरब की सुन्नी महिलाओ को भी अपनी हवास का शिकार बना रहे है. ईराक के हावीजाह पर अभी भी ISIS का कब्ज़ा है. यहाँ अरब की सुन्नी महिलाओं के साथ भी वो ही व्यव्हार किया जा रहा है जो अभी तक यजीदी महिलाओं के साथ किया जा रहा था. इस शहर से भागकर आई कुछ महिलाओं ने अपनी आपबीती बाताई है जिसको सुनकर किसी की भी रूह कांप सकती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हावीजाह की रहने वाली एक 26 वर्षीय महिला हनन ने बताया की उसका पति उनको वहां छोड़कर भाग निकला. इसके बाद ISIS के आतंकियों ने हनन को पकड़ लिया और जबरदस्ती आतंकी खलीफा के साथ शादी करने के लिए मजबूर करने लगे. जब हनन ने इनकार किया तो उसको बांधकर प्लास्टिक की वायर से पीटा गया. इसके बाद कुछ आतंकियों ने उसके साथ बलात्कार किया.

हनन ने बताया की उसके बच्चो के सामने ही आतंकी उसका बलात्कार करते थे. ऐसा रोज होता और कई महीनो तक होता रहा. हनन किसी तरीके से इन आतंकियों के चुंगल से भाग निकली. उसने यह भी बताया की इस तरह का सलूक कुछ अन्य सुन्नी अरब महिलाओ के साथ भी हो रहा है. इस तरह की घटना सामने आने के बाद ह्यूमन राइट्स वाच ने स्थानीय और अन्तराष्ट्रीय संस्थाओ से पीडितो की मदद करने का आह्वाहन किया है.

Loading...