Monday, July 26, 2021

 

 

 

यूएई के बाद कुवैत में गई हिन्दू युवक की नौकरी, दूसरे पर बैठी जांच, इस्लाम का अपमान करने का आरोप

- Advertisement -
- Advertisement -

यूएई के बाद कुवैत में इस्लाम धर्म का अपमान करने के आरोप में एक भारतीय युवक को नौकरी से निकाल दिया गया है। वहीं दूसरे पर जांच बैठाई गई है। बता दें कि इससे पहले यूएई में भी एक भारतीय को न केवल नौकरी से निकाला गया बल्कि उसको पुलिस के भी हवाले कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार, बिहार के पुपरी के कुंदन कुमार, कुवैत के बर्गर किंग में काम कर रहे थे। अपने एक फेसबुक पोस्ट में, उन्होने इस्लाम धर्म और मुस्लिमों के खिलाफ बेहद ही आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। जिसके बाद बर्गर किंग कुवैत ने उन्हे नौकरी से निकाल दिया।

बर्गर किंग कुवैत ने एक आधिकारिक बयान जारी किया जिसमें कुमार को उनकी नौकरी से बर्खास्त करने की पुष्टि की गई। अरबी में दिए गए बयान में कहा गया है, “हमारी एक शाखा में  घृणा और नस्लवाद को उकसाने वाली हमारे एक कर्मचारी के बारे में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जो प्रसारित किया गया है, उसके संदर्भ में हम इस व्यक्ति के व्यवहार की पुष्टि करते हैं और इसकी निंदा करते हैं।”

बयान में कहा गया है, “हम इस बात की भी पुष्टि करते हैं कि इस स्टाफ सदस्य के अनुबंध को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है क्योंकि हमने यह स्थापित किया है कि उसने सोशल मीडिया पर काम की नैतिकता और नैतिक व्यवहार पर हमारे दिशानिर्देशों का वास्तव में उल्लंघन किया है। हम यह दोहराना चाहेंगे कि हम इन चीजों को बर्दाश्त नहीं करेंगे और भविष्य में इस तरह के अनैतिक और अनप्रोफेशनल कृत्यों और कामों के खिलाफ सभी आवश्यक उपाय करेंगे।

इससे पहले भारतीय मूल के एक प्रोफेसर ने भी फेसबुक पर अपने मुस्लिम विरोधी पोस्ट के कारण अपनी नौकरी खो दी। कुवैत के अधिकारियों ने कुवैत विश्वविद्यालय के प्रोफेसर नंदकुमारन मोर्कथ के खिलाफ जांच शुरू की है। कुवैती के सांसद नायफ अल्मड़ास ने ट्विटर पर पुष्टि की और कहा कि ‘हमारे धर्म’ का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

इससे पहले यूएई में राकेश बी कित्तूरम, जो कि Emrill Services में एक टीम लीडर के रूप में काम करते हैं  को गुरुवार को बर्खास्त कर दिया गया। एमरिल सर्विसेज के सीईओ स्टुअर्ट हैरिसन ने कहा “कित्तूरुम का रोजगार तत्काल प्रभाव से समाप्त हो गया। उसे दुबई पुलिस को सौंप दिया जाएगा। हमारे पास इस तरह के घृणित अपराधों के प्रति एक शून्य-सहिष्णुता की नीति है।” बता दें कि आरोपी युवक ने इस्लाम और मुस्लिमों के नमाज पढ़ने पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles