इजरायल के एक अधिकारी ने कहा कि यूएई के बाद बहरीन की भी इजरायल के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने की संभावना है। हिब्रू कान चैनल ने अनाम अधिकारी के हवाले से कहा कि “बहरीन अगला देश होने की उम्मीद है, जो इजरायल के साथ आधिकारिक संबंध स्थापित करेगा”।

हालांकि इस सबंध में किसी भी समय सीमा को निर्दिष्ट नहीं किया गया। हालांकि प्रसारक द्वारा रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि अमेरिकी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने फिलिस्तीनी मीडिया को बताया कि बहरीन और ओमान से निकट भविष्य में इजरायल के साथ संबंध सामान्य होने की उम्मीद है।

यूएई और इजरायल के बीच राजनयिक कदम पर आधिकारिक तौर पर टिप्पणी करने वाला बहरीन पहला खाड़ी राज्य था। बहरीन समाचार एजेंसी के अनुसार, मनामा ने शांति समझौते का स्वागत किया और यूएई को “मध्य पूर्व शांति के अवसरों को बढ़ाने के लिए कदम उठाने” के लिए अपनी बधाई दी।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के एक वरिष्ठ सलाहकार और दामाद जेरेड कुशनर ने भी संकेत दिया कि एक और अरब देश “आने वाले दिनों में” इजरायल के साथ एक डील कर सकता है। कल ट्रम्प ने घोषणा की कि संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल के बीच औपचारिक रूप से सामान्य संबंध है। अब इजरायल कथित रूप से कब्जे वाले वेस्ट बैंक के बड़े पैमाने पर कब्जा करने की अपनी योजना को “निलंबित” करेगा।

समझौते को अब्राहम समझौते के रूप में जाना जाता है, जिसे यूएई द्वारा सराहा गया। इसमें यह भी उल्लेख किया गया है कि कतर और ओमान सहित अन्य खाड़ी देशों का इजरायल के साथ संबंध है, लेकिन पूर्ण राजनयिक संबंधों वाले एकमात्र अरब राज्य क्रमशः 1994 और 1979 और 1999 में शांति समझौते के बाद जॉर्डन, मिस्र और मॉरिटानिया हैं। हालांकि 2014 में गाजा पर इज़राइल के युद्ध के परिणामस्वरूप मॉरिटानिया ने रिश्तों को भंग कर दिया।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन