china muslim ramzan 200 1526558290

चीन की कम्यूनिस्ट सरकार की और से अल्पसंख्यक समुदायों पर जुल्म लगातार जारी है। मुस्लिम समुदाय के उपर तो इन अत्याचारों ने अपनी हदें ही पार कर दी है। अब चीन सरकार ने देश में मुस्लिम समुदाय के बीच होने वाली हलाल प्रोडक्ट्स की बिक्री पर रोक लगा दी है। चीन ने ये प्रतिबंध हलाल मीट, हलाल डेयरी प्रोडक्ट समेत सभी उत्पादों पर लगाया है।

चीन शुरू से ही मुस्लिम समुदाय के लोगों पर जबरन धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा है, ऐसे में हलाल प्रोडक्ट्स पर बैन लगाना भी इसी का हिस्सा है। इस रोक के पीछे सरकार ने तर्क दिया है कि इससे धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा मिल रहा है।बता दें कि चीन का शिनजियांग प्रांत प्राकृतिक संसाधनों के मामले में काफी धनी माना जाता है। लेकिन यह इलाका मुस्लिम बहुल है।

बीबीसी के अनुसार, सोमवार को हुई एक मीटिंग के बाद प्रांत के कम्यूनिस्ट नेतृत्व ने ये शपथ ली कि वो शिनजियांग में हलाल के ख़िलाफ़ जंग छेड़ेंगे। इस शपथ की जानकारी ऊरूमची प्रशासन ने अपने वीचैट अकाउंट पर दी है। आंकड़ों के अनुसार चीन में इस वक्त 1 करोड़ 20 लाख से अधिक मुसलमान (12 मिलियन) रह रहे हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने बुधवार को लिखा, “हलाल उत्पादों की मांग की वजह से दिक्कतें पेश आ रही हैं जिसके चलते इस्लाम का सेक्यूलर जीवन में दख़ल बढ़ रहा है।” प्रांत के एक स्थानीय अधिकारी इलशात ओसमान ने एक लेख लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है, “दोस्तों आपको हमेशा हलाल रेस्तरां खोजने की ज़रूरत नहीं है।”

इससे पहले शिनजियांग प्रांत में चीन सरकार ने मुस्लिमों के दाढ़ी रखने, सिर ढकने और बुर्का पहनने जैसी चीजों पर भी रोक लगा दी है। इसके साथ ही सरकार यहां इंटरनेट आदि के माध्यम से भी काफी सर्विलांस करता है। इतना ही नहीं शिनजियांग प्रांत में हजारों वीगर मुसलमानों को ‘व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थानों’ में रखा गया है।

संयुक्त राष्ट्र की जिनेवा स्थित नस्ली भेदभाव उन्मूलन समिति ने कहा है कि वह शिनजियांग क्षेत्र में वीगर और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों की हिरासत से चिंतित है। उसने उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की।

Loading...