सीरियाई प्रवासियों और 7 मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों पर प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी करने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ शुरू हुआ विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा हैं. ऐसे में स्थिति को भांपते हुए ट्रम्प ने इस फैसले पर अपने कदम वापस लेना शुरू कर दिए हैं.

विरोध को शांत करने की चाह से ट्रम्प ने बयान जारी कर कहा कि अमेरिका अगले 90 दिनों के भीतर सभी को वीज़ा जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर देगा. उन्होंने कहा कि एक बार सभी नीतियों की समीक्षा कर लिए जाने के बाद अगले 90 दिनों के अंदर सभी देशों के नागरिकों के लिए वीजा जारी करने की प्रक्रिया फिर शुरू हो जाएगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी के साथ उन्होंने इस प्रतिबंध को आतंकवाद के खिलाफ बताते हुए कहा कि यह प्रतिबंध मुस्लिमों पर नहीं, बल्कि आतंकवाद के खिलाफ है. ट्रंप ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा है, ‘मैं साफ कर दूं कि यह मुस्लिमों के खिलाफ लगाया गया प्रतिबंध नहीं है. मीडिया इस बारे में गलत रिपोर्टिंग कर रहा है.

उन्होंने आगे कहा, इस प्रतिबंध का धर्म से कोई लेना-देना नहीं है. यह आतंकवाद के खिलाफ और हमारे देश की सुरक्षा बनाए रखने के लिए है. दुनियाभर में करीब 40 ऐसे देश हैं जहां मुस्लिम आबादी बहुसंख्यक है, लेकिन हमने अपने प्रतिबंध में उन देशों को शामिल नहीं किया है.’

ट्रंप ने कहा, ‘हम सभी देशों के लिए वीजा जारी करने की प्रक्रिया दोबारा शुरू करेंगे, लेकिन ऐसा करने से पहले हम वीजा नियमों की समीक्षा करेंगे. यह सुनिश्चित कर लेने के बाद कि हमारी वीजा नीतियां सबसे सुरक्षित हैं, हम फिर से वीजा जारी करना शुरू कर देंगे. यह काम अगले 90 दिनों में पूरा हो जाएगा.’

गौरतलब रहें कि शुक्रवार को ट्रंप ने आदेश जारी कर मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था. इस फैसले के विरोध में ईरान सहित कई मुस्लिम देशों ने अमेरिका को उसी की भाषा में जवाब देते हुए अमेरिकी नागरिकों को प्रतिबंधित कर दिया था.

Loading...