Pope-francis

कैथोलिक ईसाई के सबसे बड़े धर्मगुरु पोप ने आतंकवाद को धर्म से जोड़ने पर ही नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आतंकवाद और युद्ध का धर्म से कोई रिश्ता नहीं हैं.

पोप फ़्रांसिस ने कहा कि  कोई भी धर्म युद्ध की आग नहीं भड़काता बल्कि ये चरमपंथी गुट हैं जो अपनी धार्मिक पथभ्रष्टताओं के चलते अपने कार्यों का औचित्य दर्शाने के लिए धर्म का नाम प्रयोग करते हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, युद्ध और आतंकवाद धार्मिक पथभ्रष्टता हैं. उन्होंने कहा कि धर्म, एकता, सम्मान और वार्ता का निमंत्रण देता है.

पोप फ़्रांसिस कई बार आतंकवाद को धर्म से जोड़ने पर आलोचना कर चुके है. उन्होंने आतंकवाद को धर्म से अलग कर निपटने की बात कही.

Loading...