Sunday, May 29, 2022

तुर्की के आफरीन ऑपरेशन से हो चूका है अब तक 897 आतंकवादियों का सफाया

- Advertisement -

afrin operation

सेना ने कहा कि,  उत्तर पश्चिमी सीरिया में तुर्की के ऑपरेशन ओलिव ब्रांच की शुरुआत के बाद से अब तक 897 पीकेके / केसीसी / पीवाईडी / वाईपीजी और दाईश आतंकवादी मारे जा चुके गए हैं.

एक जनरल स्टाफ के बयान के मुताबिक, तुर्की सशस्त्र बलों ने आतंकवादियों के आश्रयों, पदों, हथियारों और उपकरणों पर रात भर हवाई हमले किए. जिसके चले सेना ने 15 और आतंकवादी लक्ष्यों को नष्ट कर दिया है. ऑपरेशन के बाद सभी युद्धपोत अपने ठिकानों पर लौट आए है.

तुर्की सेना ने आतंकवादियों के संदर्भ में “निष्पक्ष” शब्द का इस्तमाल किया है और किसी भी आतंकवादी को जिंदा और मुर्दा पकड़ने की मुहीम जारी है. जिनमें से कुछ आतंकवादी ऑपरेशन के दौरान सरेंडर कर चुके है. हालांकि, इस शब्द का इस्तेमाल आमतौर पर आतंकवादियों के लिए किया गया है जो ऑपरेशन में मारे गए है.

डेली सबाह की खबरों के मुताबिक उत्तर पश्चिमी सीरिया में पीकेके / पीवाईडी / वाईपीजी / केसीसी और दाईस आतंकवादियों को हटाने के लिए 20 जनवरी को ऑपरेशन ओलिव ब्रांच का शुभारंभ किया गया था. यह ऑपरेशन तुर्की ने लॉन्च किया था. जो उत्तर-पश्चिमी सीरिया में पीकेके / पीवाईडी / वाईपीजी / केसीसी और दाईश आतंकवादी समूह का खात्मा करने के लिए लांच किया गया है.”

source-DAILY SABAH

तुर्की जनरल स्टाफ के मुताबिक, “इस ऑपरेशन का उद्देश्य तुर्की सीमाओं और क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता स्थापित करने के साथ-साथ आतंकवादियों के उत्पीड़न और क्रूरता से सीरियाई लोगों की रक्षा करना है.”

इस अभियान को अंतरराष्ट्रीय कानून, यूनाइटेड नेशन सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के तहत तुर्की के अधिकारों के ढांचे के तहत किया जा रहा है, यह यू.एन. चार्टर और सीरिया के क्षेत्रीय अखंडता के प्रति सम्मान के तहत आत्मरक्षा का अधिकार है.

सेना ने कहा की “इस ऑपरेशन के साथ-साथ किसी भी नागरिक को नुकसान ना हो इस बात पर भी ख़ास ध्यान रखा जा रहा है.” अफरीन जुलाई 2012 से PYD/PKK के लिए एक बड़ा ठिकाना रहा है, जब सीरिया के बशर अल असद के शासन ने लड़ाई शुरू किए बिना शहर को आतंकवादी समूह के हवाले छोड़ दिया था.

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles