युद्ध के चलते यमन के हालत दिन-प्रतिदिन भयावह होते जा रहे है. एक तरफ युद्ध की मार है तो दूसरी और भुखमरी, बिमारी फैली हुई है.

इसी बीच संयुक्त राष्ट्रसंघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने युद्ध के चलते बच्चों की मौत पर चिंता जाहिर की है. साथ ही उन्होंने सऊदी अरब को जिम्मेदार ठहराया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सयुंक्त राष्ट्र ने इस सबंध में रिपोर्ट भी तैयार की है. जो जल्द ही सामने आने वाली है. गुटेरस खुद सुरक्षा परिषद में रिपोर्ट पेश करने वाले हैं. रिपोर्ट के अनुसार यमन में जो बच्चे हताहत हुए हैं उनमें 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी गठबंधन में मारे गये हैं.

इससे पहले यमन में सऊदी अरब को बच्चों के अधिकारों के हनन करने वालों की सूची में डाल दिया गया था. परंतु कुछ ही समय बाद पूर्व महासचिव बान की मून ने सऊदी का नाम इस सूची से बाहर कर दिया था.

यमन के मामलों में राष्ट्रसंघ के विशेषज्ञ बिस्मार्क स्वान्गिन ने बल देकर कहा है कि यमन युद्ध, बच्चों के विरुद्ध युद्ध है और अब वे कुपोषण के कारण मौत की प्रतीक्षा में हैं और हैज़े की बीमारी फैलने से स्थिति ने विषम रूप धारण कर लिया है.