क़तर संकट के बीच सऊदी अरब और उसके सहयोगी देशो का समर्थन करने पर क़तर अमीर के आदेश पर शाही परिवार के 20 सदस्यों को कारवास की सजा दी गई है.

फ्रांसीसी पत्रिका ले प्वाइंट की रिपोर्ट के अनुसार, कतर में सत्तारूढ़ परिवार के बीस सदस्यों को चार बहिष्कार देशों के समर्थन में जेल में बंद कर दिया गया. दरअसल इन सभी ने सार्वजनिक रूप से क़तर सरकार की नीति पर असहमति जताई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पत्रिका रिपोर्ट में कहा कि कतर अमीर शेख तामिम बिन हमद अल थानी, के प्रत्यक्ष आदेश के आधार पर इन सभी सदस्यों को जेल भेजा गया. इन सभी सदस्यों से फ्रांसिसी व्यापारी जीन पियरे क्लामैडीयू ने मुलाक़ात की.

क्लामैडीयू ने बताया कि जब वे फर्जी चेक जारी करने के झूठे आरोप में जेल गए थे. उस वक्त वे शाही परिवार के लगभग 20 सदस्यों से में मिले थे और उन्होंने उन्हें बताया कि सऊदी अरब सहित बहिष्कार वाले देशों के समर्थन के लिए उन्हें कतर के अमीर के आदेश पर जेल में डाला गया है.

उन्होंने कहा कि शाही सदस्यों ने उनसे कहा कि उनकी आवाज़ और मामले को दुनिया के सामने लाया जाए, और बताया जाए कि उन्हें क्यों हिरासत में लिया गया.

Loading...