mkl

mkl

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में आतंकियों ने एक सूफी दरगाह को निशाना बनाया है. आतंकियों ने दरगाह में फिदायीन हमला किया, इस हमले में कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई और 27 अन्य जख्मी हो गए.

जिओ न्यूज ने के अनुसार झाल मगसी जिले में स्थित दरगाह में उर्स चल रहा था. इस दौरान दरगाह जायरीनों से भरी पड़ी थी. ऐसे में एक फिदायीन हमलावर ने खुद को दरगाह में बम से उड़ा लिया. फिदायीन को दरगाह में घुसने से रोकने की कोशिश में एक पुलिस कांस्टेबल भी मारा गया है.

स्थानीय प्रशासन ने सिब्बी और डेरा मुराद जमाली के अस्पतालों में आपातकाल की घोषणा की है. बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुग्ती ने मीडिया से कहा कि अबतक यह एक फिदायीन हमला लगता है. उन्होंने कहा, तहकीकात अब भी चल रही है और घायलों को झाल मगसी के जिला मुख्यालय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि धमाके के पीछे किस संगठन का हाथ है, हालांकि पिछले कुछ सालों से सूफ़ी दरगाहें इस्लामी चरमपंथियों के निशाने पर रही हैं.

इससे पहले नवम्बर 2016 में, बलूचिस्तान के लास्बेला जिले में हब के पास शाह नूरानी दरगाह में एक आत्मघाती विस्फोट में महिलाओं और बच्चों सहित कम से कम 52 लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हुए थे.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें