नए अमेरिकी प्रशासन में विभिन्न पदों पर 12 मुस्लिम अमेरिकियों का चयन किया गया है, जिसका नेतृत्व जो बिडेन कर रहे हैं। इतने सारे मुस्लिम चेहरों को शामिल करना इस बात को दर्शाता है कि आगामी चार वर्षों में नई सरकार किस तरह से काम करने वाली है।

बिडेन को विभिन्न समूहों से जुड़े व्यक्तियों की एक टीम बनाने के लिए सराहना मिली है। जिसमें समाज के विभिन्न वर्गों के लोग शामिल हैं। साथ ही उनकी दो डेमोक्रेट, सोनल शाह और अमित जानी को बाहर रखने को लेकर भी प्रशंसा हो रही है। जो भारत के हिंदू दक्षिणपंथी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े है। जो सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी का मूल संगठन है।

नियुक्त मुस्लिम अमेरिकियों की सूची:

1 – आइशा शाह – डिजिटल रणनीति के व्हाइट हाउस कार्यालय में भागीदारी प्रबंधक

2 – समीरा फ़ाज़िली – यूएस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल (NEC) में डिप्टी डायरेक्टर

3 – उज़रा ज़ेया – नागरिक सुरक्षा, लोकतंत्र और मानव अधिकारों के लिए राज्य के अवर सचिव

4 – अली जैदी – उप राष्ट्रीय जलवायु सलाहकार

5 – ज़ायेन सिद्दीकी – व्हाइट हाउस के डिप्टी चीफ ऑफ़ स्टाफ

6 – रीमा डोडिन – व्हाइट हाउस ऑफ़ लेजिस्लेटिव अफेयर्स की उप निदेशक

7 – मैहर बिटार, इंटेलिजेंस के वरिष्ठ निदेशक, व्हाइट हाउस राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद

8 – समियाह अली, डिप्टी एसोसिएट वकील,

9 – सलमान अहमद, नीति नियोजन निदेशक, विदेश विभाग

10 – फारुख मीठा, रक्षा उप सहायक सचिव

11 – दान शनात, व्हाइट हाउस के वरिष्ठ कानूनी मामलों के सलाहकार

12 – साइमा मोहसिन, पूर्वी जिला अटॉर्नी के लिए अमेरिकी अटॉर्नी।

समीरा फ़ाज़िली कश्मीर में जन्मे डॉक्टर दंपती मुहम्मद यूसुफ फ़ाज़िली और रफ़ीक़ फ़ाज़िली की बेटी हैं, जो मूल रूप से गोजवाड़ा क्षेत्र के हैं। वहीं कश्मीर में जन्मी महिला आयशा शाह ने व्हाइट हाउस ऑफ़ डिजिटल स्ट्रेटजी में एक वरिष्ठ पद हासिल किया है।