Saturday, November 27, 2021

10 लाख यमनी बच्चे हैजे और कुपोषण की बीमारी की चपेट में

- Advertisement -
बच्चों की सुरक्षा में सक्रिय एक संस्थान ने बताया है कि यमन के 10 लाख से अधिक बच्चे कुपोषण का शिकार, और संक्रमण के खतरे से जूझ रहे हैं।

स्पोटनिक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार बच्चों की सुरक्षा संस्थान ने आज एक घोषणा पत्र जारी करके कहा है कि 10 लाख से अधिक कुपोषण के शिकार बच्चे यमन के उन क्षेत्रों में रह रहे हैं जो हैजा के संक्रमण से जूझ रहे हैं।

स्पोटकिन न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, इस संस्थान की जानकारी बताती हैं कि पाँच साल से कम आयु के 10 लाख से अधिक बच्चे कुपोषण का शिकार है, जिनमें से दो लाख गंभीर कुपोषण का शिकार बच्चे उन स्थानों पर रह रहे हैं जहां उनके संक्रमण का शिकार होने की संभावना बहुत अधिक है।

इस बयान के अनुसार कुपोषण के शिकार बच्चों की बीमारियों से लड़ने की शक्ति दूसरे बच्चों से कम होती है और उनके मरने का प्रतिशत 3 गुना अधिक होती है।

पिछले कुछ सालों से यमन में अशांति जारी है और अंसारुल्लाह और यमन के पूर्व राष्ट्रपति मंसूर हादी के समर्थन वाले बलों के बीच संघर्ष जारी है। मार्च 2015 से सऊदी अरब के नेतृत्व में गठित गंठबंधन ने हौसियों के विरुद्ध हवाई हमले जारी रखे हुए हैं जिनके कारण इस देश में मानवीय जीवन का स्तर बहुत बदतर हो गया है।

हैज़ा एक ऐसी बीमारी है जो इस देश में गंभीर स्थिति तक पहुँच चुकी है, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पिछली जूलाई को यमन में हैजा की स्थिति को गंभीर बताया था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles