ये तीन प्रवासी हज करने के सपने को पूरा करने के लिए निकल पड़े साइकिल से, एक महीने से कर रहे है सफर

गफूरोव दिलोवर, नज़रोव सैदाली और तलाबोव शोकिर के लिए, वे सब ही अपने 30 के दशक में है और ये कठिन मीलो सड़क यात्रा करके हज पर जाने की तैयारी में है। रिपोर्टों के अनुसार, ताजिकिस्तान सरकार 40 वर्ष से कम आयु के नागरिकों को हज करने से मन करती है और बुज़ुर्गो को एक मौका देना चाहती है। इस पर बात करते हुए 37 वर्षीय बिजनेसमैन और दो बच्चों के पिता दिलोवर ने कहा की " हम सब दोस्त हैं। हमने अपनी साइकिल पर हज यात्रा करने का फैसला किया। हमने साल की शुरुआत से ही इस यात्रा की तैयारी की है। हम एक महीने की बाइक की सवारी पर हैं। हमने गर्म मौसम, रेत और धूल भरी आंधी, और हवा की स्थिति से लेकर सपाट टायर, भाषा अवरोध, सड़क पर सोने और अन्य सामान तक कई मुद्दों का सामना किया है, लेकिन हमने इन सभी बाधाओं को पार कर लिया है। अब हम अपनी यात्रा जारी रखने के लिए Consulate General of Saudi Arabia in Dubai से वीजा प्राप्त करने का इंतज़ार कर रहे हैं। इसके आगे उन्होंने बताया की "पिछले 30 दिनों में, हम विभिन्न देशों में गए और सांस्कृतियो का मज़ा लिया, और बहुत सारे नए दोस्त बनाए हैं। हमने जीवन में बहुत कुछ नया सीखा है। हम लोगों को उनके फ्लैट टायर ठीक करने में मदद कर सकते हैं। हमें कई लोगों का समर्थन मिला, जिनसे हम पहली बार मिले थे। इसके आगे वो बताते है की हमें हमेशा से विश्वास था कि हम हज की इस यात्रा को पूरा कर सकते हैं, और अब हम लगभग वहां हैं। हमें यात्रा के लिए जल्द ही वीजा मिलने की उम्मीद है, ”दिलोवर ने शुक्रवार को Consulate की अपनी यात्रा के बाद कहा।"/>

अभी हाल ही में एक पाकिस्तानी युवक ने बाइक से हज़ारो किलोमीटर का सफर तय का कर उमराह करने के अपने सपने को सच किया था अब तीन दोस्तों जो की तजाकिस्तान से है उन्होंने साइकिल से लंबा सफर तय कर हज करने की ठानी है और हज करने अपने ख्वाब को पूरा करने के लिए अब वो यूएई आ पहुंचे है ।

हजारों मील की दूरी तय करने के बाद, मध्य एशियाई देश की राजधानी दुशांबे से तिकड़ी अब यूएई पहुंच गई है जहा उनका स्वागत किया गया है ।

गफूरोव दिलोवर, नज़रोव सैदाली और तलाबोव शोकिर के लिए, वे सब ही अपने 30 के दशक में है और ये कठिन मीलो सड़क यात्रा करके हज पर जाने की तैयारी में है। रिपोर्टों के अनुसार, ताजिकिस्तान सरकार 40 वर्ष से कम आयु के नागरिकों को हज करने से मन करती है और बुज़ुर्गो को एक मौका देना चाहती है।

इस पर बात करते हुए 37 वर्षीय बिजनेसमैन और दो बच्चों के पिता दिलोवर ने कहा की ” हम सब दोस्त हैं। हमने अपनी साइकिल पर हज यात्रा करने का फैसला किया। हमने साल की शुरुआत से ही इस यात्रा की तैयारी की है। हम एक महीने की बाइक की सवारी पर हैं।

हमने गर्म मौसम, रेत और धूल भरी आंधी, और हवा की स्थिति से लेकर सपाट टायर, भाषा अवरोध, सड़क पर सोने और अन्य सामान तक कई मुद्दों का सामना किया है, लेकिन हमने इन सभी बाधाओं को पार कर लिया है। अब हम अपनी यात्रा जारी रखने के लिए Consulate General of Saudi Arabia in Dubai से वीजा प्राप्त करने का इंतज़ार कर रहे हैं।

इसके आगे उन्होंने बताया की “पिछले 30 दिनों में, हम विभिन्न देशों में गए और सांस्कृतियो का मज़ा लिया, और बहुत सारे नए दोस्त बनाए हैं। हमने जीवन में बहुत कुछ नया सीखा है। हम लोगों को उनके फ्लैट टायर ठीक करने में मदद कर सकते हैं। हमें कई लोगों का समर्थन मिला, जिनसे हम पहली बार मिले थे।

इसके आगे वो बताते है की हमें हमेशा से विश्वास था कि हम हज की इस यात्रा को पूरा कर सकते हैं, और अब हम लगभग वहां हैं। हमें यात्रा के लिए जल्द ही वीजा मिलने की उम्मीद है, ”दिलोवर ने शुक्रवार को Consulate की अपनी यात्रा के बाद कहा।

विज्ञापन