आज से ग्रैंड मस्जिद में लोग रखेंगे रोज़ा, प्रेसीडेन्सी ने जारी किया इफ्तार प्रोग्राम के लिए परमिट

दो पाक मस्जिदों के मामलों के लिए जनरल प्रेसीडेंसी ने घोषणा की है कि मक्का में ग्रैंड मस्जिद में रोज़ा रखने वाले लोगों के लिए इफ्तार का आयोजन करने की सेवाएं और परमिट गुरुवार, 2 जून से फिर से शुरू हो जाएंगे।

कार्यकारी और विकास मामलों के लिए प्रेसीडेंसी के उप प्रमुख मुहम्मद अल-जाबरी ने कहा कि हर सप्ताह सोमवार और गुरुवार को इफ्तार प्रोग्राम सूफरा फैलाने के साथ-साथ अय्यमुल बीड या ब्राइट डेज़ (13 वें, 14 वें और 15 वें दिन) के लिए परमिट जारी किए जाएंगे।

ग्रैंड मस्जिद के किंग फहद एक्सपेंशन एरिया की पहली मंजिल पर इफ्तार भोजन सूफरा फैलाने के लिए परमिट जारी किए जाएंगे। व्यक्तियों के लिए दो सूफ़्रा और चैरिटी organizations के लिए चार सूफ़्रा फैलाने की अनुमति दी जाएगी। उन्हें मासा (सफा और मारवाह के बीच सई रिचुअल्स का क्षेत्र) में इफ्तार प्रोग्राम के मैन्युअल बांटने के लिए भी अनुमति दी जाएगी।

अल-जाबरी ने कहा कि ग्रैंड मस्जिद के अंदर रोज़ा रखने वाले लोगों के लिए इफ्तार प्रोग्राम को चलाने और उसे सही ढंग से चलाने के लिए निगरानी की जायेगी।

इस्लामिक कैलेंडर में हर महीने के 13वें, 14वें और 15वें दिन को अय्यमुल बीड (सफेद या उज्ज्वल दिन) कहा जाता है क्योंकि इन तीन दिनों में रात में चाँद पूरा और रौशनी से भरपूर होता है। इन दिनों के दौरान, चंद्रमा बहुत सफेद हो जाता है और इसे नग्न आंखों से देखा जा सकता है।

विज्ञापन