नफरत की राजनीति के चलते अमरीका में मुसलमानों का जीना दुश्वार हो गया हैं. बीते सात सप्ताह के दौरान चार मस्जिदों को आग के हवाले कर दिया गया हैं.

7 जनवरी 2017 को ओस्टन के लीक ट्रावेस क्षेत्र के निर्माणाधीन इस्लामिक सेन्टर को आग के हवाले किया गया. फिर 14 जनवरी को वाशिंग्टन के ईस्ट साइड क्षेत्र में एक इस्लामी सेन्टर में भी आग लगा दी गई. इस बारें में बाज़फ़ीड वेब साइट ने कहा कि यह घटनाएं अमरीकी इतिहास में अभूतपूर्व हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दो सप्ताह का वक्त भी नहीं गुजरा कि 27 जनवरी को  टैक्सास के विक्टोरिया के इस्लामी सेन्टर में आग लगा दी गयी. याद रहे 27 जनवरी के दिन ही राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने सात मुस्लिम बाहुल्य देशों के नागरिकों के अमरीका में प्रवेश करने पर रोक लगाई थी. अब पिछले शुक्रवार को यानि 24 फ़रवरी को टैम्पा में दारुस्सलाम नामक मस्जिद के दरवाज़े पर आग लगा दी गयी.

इन घटनाओं को लेकर अमरीका के क़ानूनी सेन्टर ने कहा कि हमने आज तक इस प्रकार की घटनाएं नहीं देखीं कि इतने कम समय में चार मस्जिदों को आ लगा दिया गया हो. यह मामला पूरे देश में इस्लाम विरोधी भावनाओं को दर्शा रहा हैं. बाज़फ़ीड वेब साइट ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि कुछ सप्ताह के दौरान अमरीका में अल्पसंख्यकों विशेषकर यहूदी सेन्टर के विरुद्ध हमलों में तेज़ी आई है.

Loading...